NEW : FullScreen Status | Latest Songs | 😂 Funny Videos | ❤ Love Status Videos| 🤣 GIF VIDEOS | 🖼 Images | 😅 JOKES | WhatsappGroups | Whatsapp Me +91 999 860 6828


Category - Story

Funny Jokes Naughty jokes Story

Ek High Court K Vakil Ki

Ek High Court K Vakil Ki Jungle Ke Raste me Car Kharab Ho Gayi.🚗

Door Tak Nazar Ghumai To 1 Jagah Bulb Jalta Dikhai Diya to Vakil Udhar Chal Pada,
Knock Kiya To 1 Sexy Aurat👩 ne Door khola aur Pucha: Kya Chahiye.☺

Vakil : Main High Court Ka Vakil Hu, Meri Car Kharab Ho Gayi Hai So Main Raat Gujarna Chahta Hun Yaha.😐

Aurat: Mere Paas Ek Hi Room Hai Aur Bed Bhi Ek Hai.😉

Vakil : “Aap Chinta Na Kare Main High Court Ka Vakil Hun Aapko Koi Pareshani Nahi Hogi.😐

Dono Jab Sone Ke Liye Bistar Par Pahunche To
Aurat: “Mujhe Sirf Bra Aur Painty Mein Sone Ki Aadat Hai.😉

Vakil : Aap Jaise Chahe Soye, Main High Court Ka Vakil Hun Aapko Koi Pareshani Nahi Hogi.😐

Aurat Bra /Panty Mein Let Gayi Aur Thodi Der Baad Boli: Mujhe Aapke Uper Taang Rakh Ke Sona Hai.😉

Vakil : “Madam Aap Jaise Marji Soiye Mujhe Koi Problame Nahi Main High Cort Ka Vakil Hun.😐

Raat Gujar Gaye Subah Vakil Sahab Bahar Baithe Chai Pee Rahe The To Unhone Dekha Ki Us Aurat Ne 2 Murge Aur 10 Murgiya Paal
Rakhi Thi Jinme Se Ek Murga Sab Murgiyo Ke Piche Bhag Raha Tha Aur Dusra Ek Murga Chupchap Baitha Tha.😣

Vakil : Ye Dusra Murga Chupchap Baitha Hai.. Kya Ye Bimar Hai?😌

Aurat: “Nahi .. Ye Chutiya High Court Ka Vakil Hai”😜😜



Story

एक बच्चा अपनी माँ के साथ

एक बच्चा अपनी माँ के साथ एक दुकान पर शॉपिंग
करने गया तो दुकानदार ने उसकी मासूमियत देखकर
उसको सारी टॉफियों के डिब्बे खोलकर कहा-:
“लो बेटा टॉफियाँ ले लो…!!!”
पर उस बच्चे ने भी बड़े प्यार से उन्हें मना कर
दिया. उसके बावजूद उस दुकानदार ने और
उसकी माँ ने भी उसे बहुत कहा पर
वो मना करता रहा. हारकर उस दुकानदार ने खुद
अपने हाथ से टॉफियाँ निकाल कर उसको दीं तो उसने
ले लीं और अपनी जेब में डाल ली….!!!!
वापस आते हुऐ उसकी माँ ने पूछा कि”जब अंकल
तुम्हारे सामने डिब्बा खोल कर टाँफी दे रहे थे , तब
तुमने नही ली और जब उन्होंने अपने हाथों से
दीं तो ले ली..!! ऐसा क्यों..??”
तब उस बच्चे ने बहुत खूबसूरत प्यारा जवाब
दिया -: “माँ मेरे हाथ छोटे-छोटे हैं… अगर मैं
टॉफियाँ लेता तो दो तीन
टाँफियाँ ही आती जबकि अंकल के हाथ बड़े हैं
इसलिये ज्यादा टॉफियाँ मिल गईं….!!!!!”
बिल्कुल इसी तरह जब भगवान हमें देता है
तो वो अपनी मर्जी से देता है और वो हमारी सोच से
परे होता है,
हमें हमेशा उसकी मर्जी में खुश रहना चाहिये….!!!
क्या पता..??
वो किसी दिन हमें पूरा समंदर देना चाहता हो और हम
हाथ में चम्मच लेकर खड़े हों…
-Be soulful



Story

जीवन की सचाई

जीवन की सचाई

एक आदमी की चार पत्नियाँ थी।

वह अपनी चौथी पत्नी से बहुत प्यार करता था और उसकी खूब देखभाल करता व उसको सबसे श्रेष्ठ देता।

वह अपनी तीसरी पत्नी से भी प्यार करता था और हमेशा उसे अपने मित्रों को दिखाना चाहता था। हालांकि उसे हमेशा डर था की वह कभी भी किसी दुसरे इंसान के साथ भाग सकती है।

वह अपनी दूसरी पत्नी से भी प्यार करता था।जब भी उसे कोई परेशानी आती तो वे अपनी दुसरे नंबर की पत्नी के पास जाता और वो उसकी समस्या सुलझा देती।

वह अपनी पहली पत्नी से प्यार नहीं करता था जबकि पत्नी उससे बहुत गहरा प्यार करती थी और उसकी खूब देखभाल करती।

एक दिन वह बहुत बीमार पड़ गया और जानता था की जल्दी ही वह मर जाएगा।उसने अपने आप से कहा,” मेरी चार पत्नियां हैं, उनमें से मैं एक को अपने साथ ले जाता हूँ…जब मैं मरूं तो वह मरने में मेरा साथ दे।”

तब उसने चौथी पत्नी से अपने साथ आने को कहा तो वह बोली,” नहीं, ऐसा तो हो ही नहीं सकता और चली गयी।

उसने तीसरी पत्नी से पूछा तो वह बोली की,” ज़िन्दगी बहुत अच्छी है यहाँ।जब तुम मरोगे तो मैं दूसरी शादी कर लूंगी।”

उसने दूसरी पत्नी से कहा तो वह बोली, ” माफ़ कर दो, इस बार मैं तुम्हारी कोई मदद नहीं कर सकती।ज्यादा से ज्यादा मैं तुम्हारे दफनाने तक तुम्हारे साथ रह सकती हूँ।”

अब तक उसका दिल बैठ सा गया और ठंडा पड़ गया।तब एक आवाज़ आई,” मैं तुम्हारे साथ चलने को तैयार हूँ।तुम जहाँ जाओगे मैं तुम्हारे साथ चलूंगी।”

उस आदमी ने जब देखा तो वह उसकी पहली पत्नी थी।वह बहुत बीमार सी हो गयी थी खाने पीने के अभाव में।
वह आदमी पश्चाताप के आंसूं के साथ बोला,” मुझे तुम्हारी अच्छी देखभाल करनी चाहिए थी और मैं कर सकता थाI”

दरअसल हम सब की चार पत्नियां हैं जीवन में।

1. चौथी पत्नी हमारा शरीर है।
हम चाहें जितना सजा लें संवार लें पर जब हम मरेंगे तो यह हमारा साथ छोड़ देगा।

2. तीसरी पत्नी है हमारी जमा पूँजी, रुतबा। जब हम मरेंगे
तो ये दूसरों के पास चले जायेंगे।

3. दूसरी पत्नी है हमारे दोस्त व रिश्तेदार।चाहेंवे कितने भी करीबी क्यूँ ना हों हमारे जीवन काल में पर मरने के बाद हद से हद वे हमारे अंतिम संस्कार तक साथ रहते हैं।

4. पहली पत्नी हमारी आत्मा है, जो सांसारिक मोह माया में हमेशा उपेक्षित रहती है।

यही वह चीज़ है जो हमारे साथ रहती है जहाँ भी हम जाएँ…….
कुछ देना है तो इसे दो….
देखभाल करनी है तो इसकी करो….
प्यार करना है तो इससे करो…



Interesting SMS Story

महाराणा प्रताप के हाथी की कहानी

महाराणा प्रताप के हाथी
की कहानी।:—

मित्रो आप सब ने महाराणा
प्रताप के घोंड़े चेतक के बारे
में तो सुना ही होगा,

लेकिन उनका एक हाथी
भी था।

जिसका नाम था रामप्रसाद।
उसके बारे में आपको कुछ बाते बताता हु।

रामप्रसाद हाथी का उल्लेख
अल- बदायुनी ने जो मुगलों
की ओर से हल्दीघाटी के
युद्ध में लड़ा था ने
अपने एक ग्रन्थ में कीया है।

वो लिखता है की जब महाराणा
प्रताप पर अकबर ने चढाई की
थी तब उसने दो चीजो को
ही बंदी बनाने की मांग की
थी एक तो खुद महाराणा
और दूसरा उनका हाथी
रामप्रसाद।

आगे अल बदायुनी लिखता है
की वो हाथी इतना समजदार
व ताकतवर था की उसने
हल्दीघाटी के युद्ध में अकेले ही
अकबर के 13 हाथियों को मार
गिराया था

और वो लिखता है की:
उस हाथी को पकड़ने के लिए
हमने 7 बड़े हाथियों का एक
चक्रव्यू बनाया और उन पर
14 महावतो को बिठाया तब
कही जाके उसे बंदी बना पाये।

अब सुनिए एक भारतीय
जानवर
की स्वामी भक्ति।

उस हाथी को अकबर के समक्ष
पेश
किया गया जहा अकबर ने
उसका नाम पीरप्रसाद रखा।

रामप्रसाद को मुगलों ने गन्ने
और पानी दिया।

पर उस स्वामिभक्त हाथी ने
18 दिन तक मुगलों का नही
तो दाना खाया और ना ही
पानी पीया और वो शहीद
हो गया।

तब अकबर ने कहा था कि;-
जिसके हाथी को मै मेरे सामने
नहीं झुका पाया उस महाराणा
प्रताप को क्या झुका पाउँगा।

ऐसे ऐसे देशभक्त चेतक व रामप्रसाद जैसे तो यहाँ
जानवर थे।

इसलिए मित्रो हमेशा अपने
भारतीय होने पे गर्व करो।



Story

Love your parents

बहु ने आइने मेँ लिपिस्टिक ठिक
करते हुऐ
कहा -:
“माँ जी, आप
अपना खाना बना लेना,
मुझे और इन्हें आज एक
पार्टी में जाना है …!!
“बुढ़ी माँ ने कहा -: “बेटी मुझे
गैस वाला
चुल्हा चलाना नहीं आता …!!
“तो बेटे ने कहा -:
“माँ, पास वाले मंदिर में आज
भंडारा है ,
तुम वहाँ चली जाओ
ना खाना बनाने की कोई
नौबत
ही नहीं आयेगी….!!!
“माँ चुपचाप अपनी चप्पल पहन
कर मंदिर
की ओर
हो चली…..
यह पुरा वाक्या 10 साल
का बेटा रोहन सुन
रहा था |
पार्टी में जाते वक्त रास्ते में
रोहन ने अपने
पापा से
कहा -:
“पापा, मैं जब बहुत
बड़ा आदमी बन जाऊंगा ना
तब मैं भी अपना घर
किसी मंदिर के पास
ही बनाऊंगा ….!!!
माँ ने उत्सुकतावश पुछा -:
क्यों बेटा ?
….रोहन ने जो जवाब दिया उसे
सुनकर उस बेटे
और बहु
का सिर शर्म से नीचे झुक
गया जो
अपनी माँ को मंदिर में छोड़ आए
थे…..
रोहन ने कहा -: क्योंकि माँ,
जब मुझे भी किसी दिन
ऐसी ही किसी
पार्टी में
जाना होगा तब तुम
भी तो किसी मंदिर में
भंडारे में खाना खाने जाओगी ना
और मैं
नहीं चाहता कि तुम्हें कहीं दूर
के मंदिर में
जाना पड़े….!!!!
पत्थर तब तक सलामत है
जब तक
वो पर्वत से जुड़ा है .
पत्ता तब तक सलामत
है जब तक वो पेड़ से जुड़ा है
. इंसान तब तक
सलामत है
जब तक वो परिवार से
जुड़ा है .
क्योंकि परिवार से अलग होकर
आज़ादी तो मिल जाती है
लेकिन संस्कार चले
जाते हैं ..
एक कब्र पर लिखा था…
“किस को क्या इलज़ाम दूं
दोस्तो…,
जिन्दगी में सताने वाले भी अपने
थे,
और दफनाने वाले
भी अपने थे…
More @
Whatsappgreetings.com



Interesting SMS Story

लड़का अपने स्कूल की फीस भरने

🙇एक बार एक लड़का अपने स्कूल की फीस भरने के लिए एक दरवाजे से दूसरे दरवाजे तक कुछ सामान बेचा करता था,

😢 एक दिन उसका कोई
सामान नहीं बिका और उसे बड़े जोर से भूख भी लग रही थी. उसने तय किया कि अब वह जिस भी दरवाजे पर जायेगा, उससे खाना मांग
लेगा…

🚪पहला दरवाजा खटखटाते ही एक लड़की ने दरवाजा खोला, जिसे देखकर वह घबरा गया और बजाय खाने के उसने पानी का एक
गिलास माँगा….

🙇 लड़की ने भांप लिया था कि वह भूखा है, इसलिए वह एक…… बड़ा गिलास दूध का ले आई. लड़के ने धीरे-धीरे दूध पी लिया…

😔” कितने पैसे दूं?”
लड़के ने पूछा.
” पैसे किस बात के?”
लड़की ने जवाव में कहा.
“माँ ने मुझे सिखाया है कि जब भी किसी पर दया करो तो उसके पैसे नहीं लेने चाहिए.”

😯”तो फिर मैं आपको दिल से धन्यवाद देता हूँ.” जैसे ही उस लड़के ने वह घर छोड़ा, उसे न केवल शारीरिक तौर पर शक्ति मिल चुकी थी , बल्कि उसका भगवान् और आदमी पर भरोसा और भी बढ़ गया था….

⚡सालों बाद वह लड़की गंभीर रूप से बीमार पड़
गयी. लोकल डॉक्टर ने उसे शहर के बड़े अस्पताल में इलाज के लिए भेज दिया…

👷 विशेषज्ञ डॉक्टर होवार्ड केल्ली को मरीज देखने के लिए बुलाया गया. जैसे ही उसने लड़की के कस्बे का नाम सुना, उसकी आँखों में
चमक आ गयी…

😄वह एकदम सीट से उठा और उस लड़की के कमरे में गया. उसने उस लड़की को देखा, एकदम पहचान लिया और तय कर लिया कि वह उसकी जान बचाने के लिए
जमीन-आसमान एक कर देगा….

😎उसकी मेहनत और लग्न रंग लायी और उस लड़की कि जान बच गयी.
डॉक्टर ने अस्पताल के ऑफिस में जा कर उस
लड़की के इलाज का बिल लिया….

😍 उस बिल के कौने में एक नोट लिखा और उसे उस लड़की के पास भिजवा दिया. लड़की बिल का लिफाफा देखकर घबरागयी…

😢 उसे मालूम था कि वह बीमारी से तो वह बच गयी है लेकिन बिल कि रकम जरूर उसकी जान ले लेगी…

😣 फिर भी उसने धीरे से बिल खोला, रकम को देखा और फिर अचानक उसकी नज़र बिल के कौने में पैन से लिखे नोट पर गयी…

😓जहाँ लिखा था, “एक गिलास दूध द्वारा इस बिल
का भुगतान किया जा चुका है.” नीचे उस नेक डॉक्टर
होवार्ड केल्ली के हस्ताक्षर थे.

😃 ख़ुशी और अचम्भे से उस लड़की के गालों पर आंसू टपक पड़े उसने ऊपर कि और दोनों हाथ उठा कर
कहा, ” हे भगवान..! आपका बहुत-बहुत धन्यवाद..
आपका प्यार इंसानों के दिलों और हाथों के द्वारा न जाने कहाँ- कहाँ फैल चुका है.”

☀अगर आप दूसरों पर.. अच्छाई करोगे तो.. आपके साथ भी.. अच्छा ही होगा ..!!

👳अब आपको दो में से एक चुनाव करना है…!
या तो आप इसे शेयर करके इस सन्देश को हर जगह पहुंचाएँ..! या

😞अपने आप को समझा लें कि इस कहानी ने आपका दिल नहीं छूआ..!!

❤❤DIL SEY❤



Story

nice story with a wonderful lesson

I just saw this nice story with a wonderful lesson and thought to share it with u all, pls enjoy:

An aging King realized that if he died he has no one to take over the throne. He decided to adopt a son.

He launched a competition and 10 boys made it to the top. The King said to them, “I have one last test and whoever comes top will become my adopted son and heir to my throne”.

He gave each boy a seed of corn and told them to take the seed home, plant and nurture it for 3 weeks. The 10 boys took their seeds and ran home to plant their seeds.

In one home, the boy and his parents were sad when the seed failed to sprout. The boy had done everything but he failed.

His friends advised him to buy a seed and plant it but his God fearing parents who had always taught him honesty refused.

The day came and the 10 boys went to the palace. All the 9 boys were successful.

The King went to each boy asking – “Is that what came out of the seed I gave you?” And each boy said “Yes, your majesty”. The King would nod and move down the line until the last boy in the line who was shaking with fear.

The King asked him – “What did you do with the seed I gave you?” The boy said “I planted it and cared for it your majesty but it failed to sprout.” The King went to the throne with the boy and said, “I gave these boys boiled seeds and a boiled seed cannot sprout.

If a King must have one quality, it must be honesty and only this boy passed the test.” We live in a society where people will do anything for success.

God sometimes does not give us things because He wants to teach us a lesson.

How many people out there have achieved success the wrong way? How many people send their children to expensive schools and build houses, buy expensive cars with stolen money?

How many people are occupying top positions yet they stole the certificates? How many people are successful out there at all costs?

HOW MANY PEOPLE WILL BE CROWNED AS KINGS IN HEAVEN FOR BEING FAITHFUL UNTIL THE END? I PRAY THAT I BE FAITHFUL TILL THE END!!!

Please be faithful to God no matter what life throws at you, even if life gives you boiled seed.

I hope you can spare me your precious time to send this to ten people to be faithful in their Christian life.