Play It Now

बड़ी बेवफ़ा हो जाती है ग़ालिब, ये घड़ी भी सर्दियों में, 5 मिनट और सोने की सोचो तो, 30 मिनट आगे बढ़ जाती है 😊😉 मत ढूंढो मुझे इस दुनिया की तन्हाई में, ठण्ड बहुत है, मैं यही हूँ, अपनी रजाई में.. 😝😝 तमाम राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय समस्याओं के बीच मेरी छोटी सी लोकल समस्या सारी रात गुज़र जाती है इसी कश्मकश में ये हवा कहां से घुस जाती है रजाई में 😜😝 सुबह सुबह आकर सोये हुए को जगाने के लिये उसकी रजाई खींच लेने को महापाप की श्रेणी में रखा जायेगा 😝 अगर इस समय कोई सुबह सुबह किसी पर ठंडा पानी डाल दे, तो वो घटना भी आतंकवादी हमले के अंतर्गत मानी जायेगी 😛😛😛 किसी की रजाई खींचना देशद्रोह के बराबर माना जायेगा और रजाई में घुसकर ठंडे पैर लगाना छेड़छाड़ का अपराध माना जायेगा 😳😆😆 इस बरसाती ठण्ड के मौसम में रजाई के अंदर रहना ही श्रेष्ठ कर्म है और टमाटर की चटनी के साथ पकोड़े, चाय मिलना मोक्ष की प्राप्ति 😁😂😂 ऐ सर्दी इतना न इतरा अगर 👉​​हिम्मत है तो जून में आ।। ❄Happy Winter 😜😛☺'
TopJokes.in